पिता, ताऊ, चाचा, भाई समेत 28 लोगाें बनाया नाबालिग को हवस का शिकार !

पिता, ताऊ, चाचा, भाई समेत 28 लोगाें बनाया नाबालिग को हवस का शिकार !
Share on social media

mp03.in संवाददाता उत्तर प्रदेश 

उत्तर प्रदेश का ललितपुर जिले के कोतवाली इलाके में रहने वाली एक नाबालिग लड़की ने अपने पिता, ताऊ, तीन चाचा, चचेरे भाई समेत 28 लोगों पर बलात्कार का मामला दर्ज कराया है। इस जघन्य वारदात की एफआईआर में पीड़िता के रिश्तेदारों के अलावा  समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष, बहुजन समाज पार्टी के जिलाध्यक्ष समेत कई नेताओं के नाम भी शामिल हैं। मामले में शामिल नेताओं ने इसे अपने खिलाफ साजिश करार दिया है।

ललितपुर की कोतवाली पुलिस के अनुसार पीड़िता ने अपने बयानों में बताया कि वह 17 साल है और  वह 11वीं में पढ़ती है। उसने बताया कि जब वह छठवीं क्लास में थी तभी उसके पिता ने उसके साथ रेप किया था। इसके बाद अगले दिन मैं स्कूल गई तो वो मुझे छुट्टी के तुरंत बाद पिता लेने आए।  उन्होंने बाजार में उसे पानी की टिक्की खिलाई और होटल राधा कृष्ण होटल ले गए। जहां  बाहर एक औरत खड़ी थी, जो उसे होटल के कमरे में ले गई। कमरे में जाकर धीरे-धीरे पीड़िता बेहोश हो गइ्र, जहां आए एक आदमी ने उसके साथ बलात्कार किया। पीड़िता ने आरोप लगाया कि उसके मंझले ताऊ और उनकी बेटी मुझे अपने साथ घर लेकर गई थीं, जहां मंझले ताऊ और उनके बड़े ने भी अगल-अलग दिन बलात्कार किया। वह वहां से दादी के  घर रहने चली गई। जहां तीन चाचाओं ने भी उसके साथ रेप किया। घर आने के बाद जब उसने ये बात अपनी मम्मी को बताई, तो वो थाने गईं। लेकिन उनकी सुनवाई नहीं हुई।  रिपोर्ट लिखवाने के लिए थाने जाने की बात पता चलने पर पापा ने मुझे और मम्मी को मारा। फिर 13 जुलाई 2021 को मंझले ताऊ की लड़की की शादी के दौरान पीड़िता को बेचने की नाकाम कोशिश की गई। बाद में कोतवाली थाने में मां के साथ पहुंची पीड़िता ने एफआईआर न होने पर आत्महत्या की धमकी दी, जिसके बाद पुलिस ने 28 आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर ली।

किन धाराओं के तहत हुई एफआईआर 

ललितपुर पुलिस ने लड़की की शिकायत पर इन धाराओं में केस दर्ज किया है.- आईपीसी की धारा 354 (महिला पर हमला), 376 डी (सामूहिक बलात्कार), 323 (चोट पहुंचाना), 328 (जहर से नुकसान पहुंचाना), 506 (आपराधिक धमकी), 120बी (आपराधिक साजिश). इसके अलावा लैंगिक अपराधों से बच्चों का संरक्षण अधिनियम 2012 की धारा 5 और 6 भी लगाई गई है।

इन आरोपियों के खिलाफ हुई एफआईआर पीड़िता के पिता राजेंद्र अग्रवाल,द समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष तिलक यादव, राजू यादव, महेंद्र यादव, अरविंद यादव, प्रबोध तिवारी, सोनू समैया,  सपा नगर अध्यक्ष  राजेश जैन, महेंद्र दूबे, नीरज तिवारी, पार्षद महेंद्र सिंघई, बसपा जिलाध्यक्ष दीपक अहिरवार, कोमलकांत सिंघई. इनके अलावा मंझला ताऊ, बड़े ताऊ का लड़का, तीन चाचा, बड़ी ताई भी शामिल हैं। परिवार के इन लोगों के नाम के आगे FIR में अज्ञात लिखा है। इसके अलावा FIR में पप्पू अग्रवाल, मुन्ना अग्रवाल, आकाश, महक, बंटी नीतू, शरत मंजू के नाम भी हैं. एक औरत, एक आदमी और एक लड़के को अज्ञात में दर्ज किया गया है।

इन नेताओं पर भी एफआईआर 

इनमें तिलक यादव समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष हैं. राजेश जैन सपा के नगर अध्यक्ष, महेंद्र सिंघई पार्षद हैं. FIR में जिस दीपक अहिरवार का नाम है, वो बसपा के जिलाध्यक्ष हैं।

कोटस

ललितपुर की एक नाबालिग ने अपने पिता पर ही शारीरिक शोषण का आरोप लगाया है। ये भी कहा है कि उसने ना केवल खुद दुष्कर्म किया बल्कि अन्य लोगों से भी शारीरिक शोषण करवाया। 28 लोगाें के खिलाफ FIR दर्ज कर ली गई है।  मेडिकल परीक्षण कराया जा रहा है.।चूंकि मामला बहुत संवेदनशील है इसलिए बड़े धैर्य से कार्रवाई की जाएगी। लड़की के आवास पर सुरक्षा के लिए फोर्स तैनात कर दी गई है।

fir

गिरिजेश कुमार, एडिशनल एसपी 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *