फर्जी तरीके से आदिवासियों की जमीन हड़पने वाले माता-पिता और बेटे पर एफआईआर

फर्जी तरीके से आदिवासियों की जमीन हड़पने वाले माता-पिता और बेटे पर एफआईआर
– डेढ़ करोड़ में हुआ था जमीन बेचने का सौदा, कोलार थाने का मामला
– थाने का घेराव और कलेक्ट्रेट में शिकायत के बाद दर्ज हुआ प्रकरण

mp03.in संवाददाता भोपाल 

आदिवासियों की जमीन हड़पने के मामले में कोलार थाना पुलिस ने माता-पिता और बेटे के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया है। आदिवासियों की जमीन बेचने की अनुमति 1 करोड़ 55 लाख में पूर्व में कलेक्टर ने दी थी। आदिवासियों के दस दिन पहले कोलार थाने का घेराव करने, विधायक रामेश्वर शर्मा द्वारा आदिवासियों की जमीन के संबंध में कार्रवाई करने व मंगलवार को कलेक्टर को जनसुनवाई में देने के बाद पुलिस ने तीन लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। जमीन हड़पने का आरोप लगाते हुए आदिवासियों ने कोलार थाने का घेराव किया। आदिवासियों की जमीन को लेकर विधायक रामेश्वर शर्मा ने ट्वीट कर मामले की जांच करने के लिए कहा है।
सहकारी बैंक में पैसा जमा किया, फिर वाउचर से निकाल लिया
आदिवासी चतर सिंह, वतन सिंह, पार्वती बाई ने पुलिस को शिकायती आवेदन देते हुए बताया कि दौलतपुरा कोलार में उनकी जमीन है। इसमें शशि शर्मा पति शशि शंकर शर्मा, पुत्र विकास शर्मा पिता शशि शंकर शर्मा, शशि शंकर शर्मा पिता एसएन शर्मा निवासी 21 अमलतास फेस-2 चूनाभïट्टी कोलार ने एक करोड़ पचपन लाख नब्बे हजार रुपये में बेचने की अनुमति कलेक्टर भोपाल ने दी थी। सारा पैसा शासकीय बैंक खाते में डालना था। सम्पूर्ण विक्रय मूल्य जो विक्रय वर्ष कि गाईड लाइन से काम न हो का भुगतान क्रेता पक्ष द्वारा आदिवासियों के राष्ट्रीय बैंक के खाते में जमा करा कर बैंक पास बुक उप पंजीयक के समक्ष प्रस्तुत किए जाने के बाद विक्रेता भूमि का पंजीयन किया जाना था। शशि शर्मा, विकास शर्मा समेत अन्य ने कलेक्टर गाइड लाइन का पालन नहीं करते हुए आदिवासियों की रकम नहीं दी और जमीन हड़प ली। जांच के बाद पुलिस ने शशि शर्मा, विकास शर्मा व शशि शंकर शर्मा पर धोखाधड़ी समेत अन्य धाराओं में मामला दर्ज कर लिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.