तरण पुष्कर स्विमिंग पूल में डूबने से रंगकर्मी की मौत

तरण पुष्कर स्विमिंग पूल में डूबने से रंगकर्मी की मौत

mp03.in संवाददाता भोपाल 

लिंक रोड नंबर -1 स्थित प्रकाश तरण पुष्कर में गुरुवार सुबह डूबने से एक रंगकर्मी युवक की मौत हो गई। घटना के समय स्विलिंग पूल के आसपास कोच भी तैनात थे, लेकिन जब वह उन्हें बचाते तब तक उनकी मौत हा चुकी थी। पुलिस ने इस मामले में मर्ग कायम कर जांच शुरू कर दी है।
पुलिस के अनुसार सेवासदन, पंचशील नगर निवासी रमेश अहिरे (42) रंगकर्मी थे।
जोकि  अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ रहते थे। वह रोजाना तैरने की प्रेक्टिस करने प्रकाश तरण पुष्कर जाया करते थे।  गुरुवार को भीद वह 10 से पौने 11 बजे के टाइम पर प्रकाश तरण पुष्कर गए थे।  अचानक गहरे पानी में चले गए। जहां पानी में डूबने से उनकी मौत हो गई। स्विलिंग कोच जब तक उन्हें बचाते तब तक उनकी मौत हो चुकी थी। सूचना मिलते ही मौके पर पहुंची पुलिस ने मृतक का शव बरामद कर उनके परिजनों को खबर दे दी है। अब पुलिस प्रबंधन से पूछताछ करने की तैयारी कर रही है।
बिरसा मुंडा का  किरदार निभाया था
मृतक रंगकर्मी रमेश ने 15 नवंबर को जनजातीय गौरव दिवस में नाटक ‘बिरसा मुंडा’ का किरदार निभाया था।  गुरुवार सुबह 10.30 बजे वे प्रकाश तरण पुष्कर के स्विमिंग पूल में तैराकी कर रहे थे।

पत्नी-बेटे को नहीं मौत की खबर
रमेश की पत्नी सुनीता भी रंगकर्मी हैं। दोनों ने लव मैरिज की थी। सुनीता आंगनबाड़ी कर्मचारी भी हैं। वह बेटे सक्षम के साथ मुंबई गई हैं। रमेश के रिश्तेदारों ने बताया कि अभी संगीता व बेटे को रमेश की मौत की जानकारी नहीं दी गई है। उनका शव पुलिस ने हमीदिया शवगृह में रखवा दिया है।

6 अक्टूबर को ली थी तरण पुष्कर में मेंबरशिप
रंगकर्मी ने 6 अक्टूबर को स्विमिंग सीखने के लिए तुलसी नगर स्थित प्रकाश तरण पुष्कर में मेंबरशिप ली थी। वह 15 साल के बेटे सक्षम के साथ रोजाना स्विमिंग सीखने आते थे। बुधवार को बेटा सीरियल के ऑडिशन के लिए मुंबई चला गया। ऐसे में वे गुरुवार को अकेले पहुंचे। वह पूल में तैराकी सीख रहे थे। अचानक वह डूबने लगे। पूल के मैनेजर आरएस किरार का कहना है कि रमेश को डूबता देख सेफ्टी गार्ड ने उन्हें बाहर निकाला। इसके बाद उन्हें सीपीआर दिया था।

: बड़े तालाब में डूबने से तैराक की मौत
एएसआई गणेश डेहरिया ने बताया कि अलताफ पिता असलम खान (26) पंचशील नगर, टीटी नगर में रहता था। बुधवार शाम करीब पांच बजे के आसपास वह वीआईपी रोड स्थित राजा भोज की प्रतिमा से कुछ दूरी पर मस्जिद के पास पानी में तैराकी कर रहा था, तभी अचानक पानी में डूब गया। नजर पड़ते ही गोताखोरों ने पानी में छलांग लगाकर उसे तालाब से बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया, वहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का निरीक्षण किया तो मृतक के कपड़े तालाब के बाहर रखे मिले थे। कपड़े में मिले मोबाइल से परिजन से संपर्क कर घटना की जानकारी दी गई। अलताफ के पिता असलम खान ने पुलिस को बताया कि वह प्राइवेट काम करता था और अच्छी तैराकी कर लेता था।
जलकुंभी में फंसने की आशंका
गोताखोरों ने पुलिस को बताया कि घटनास्थल पर वे लोग थे और उनकी नजर अलताफ पर पड़ी थी। अलताफ काफी अच्छी तैराकी करता था और गोताखोर उसकी तैराकी पहले भी देख चुके थे। कल शाम गोताखोरों ने उसे तैराकी करते हुए देखा था। कुछ देर बाद उन्हें वह पानी में नजर नहीं आया। तैराक होने के कारण गोताखोरों ने ध्यान नहीं दिया, लेकिन जब देर होने लगी तो अनहोनी की आशंका पर गोताखोरों ने पानी में छलांग लगा दी और अलताफ को बाहर निकालकर अस्पताल पहुंचाया। वहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.