तीन साल बाद पूरे प्रदेश में आयोजित हुई जनरल परेड!

तीन साल बाद पूरे प्रदेश में आयोजित हुई जनरल परेड!
  • सभी जिलों/बटालियनों में वरिष्‍ठ अधिकारियों  ने ली परेड

    -बेसिक पुलिसिंग को बढावा देने डीजीपी के निर्देश पर हुई कार्रवाई

  – प्रदेश में पहली बार भोपाल और इंदौर में पुलिस आयुक्‍त ने किया परेड का निरीक्षण

mp03.in संवाददाता भोपाल 

 पुलिस विभाग में सामूहिकता एवं अनुशासन बनाए रखने के लिए नियमित परेड का महत्वपूर्ण योगदान है। यह पारंपरिक रूप से हर इकाई में नियमित रूप से वरिष्ठ अधिकारियों की उपस्थिति में होती थी। कोविड काल में यह क्रम टूट गया जो अभी भी नियमित शुरू नहीं हो सका।

जनरल परेड पुलिस बल में अनुशासन तथा शारीरिक फिटनेस बनाए रखने के लिए विशेष महत्‍व रखती है। इसी बात को ध्‍यान रखते हुए डीजीपी सुधीर सक्‍सेना ने बेसिक पुलिसिंग को बढ़ावा देने के लिए पुलिस के सभी कमिश्नर, पुलिस अधीक्षक तथा कमांडेंट को शुक्रवार को जनरल परेड तथा पुलिस लाईन का निरीक्षण करने के निर्देश दिए थे।  डीजीपी के निर्देश पर शुक्रवार को प्रदेश के सभी जिलों, बटालियनों तथा पीटीएस में जनरल परेड का आयोजन हुआ। उल्‍लेखनीय है कि कोविड-19 महामारी के चलते लगभग तीन साल से यह परंपरा रूकी हुई थी। परेड के उपरांत सभी पुलिस अधीक्षक/कमांडेंटस् ने पुलिस लाईन के निरीक्षण के दौरान अर्दली रूम लिया एवं वाहन शाखा का भी निरीक्षण किया।

इंदौर-भोपाल में पुलिस कमिश्नर ने ली सलामी

प्रदेश के दो महानगरों में पुलिस आयुक्‍त प्रणाली लागू होने के बाद इस तरह का पहला आयोजन था। अत: पहली बार भोपाल और इंदौर में पुलिस आयुक्‍त ने परेड का निरीक्षण किया।

एसपी, कमांडेंट ने पुलिस लाइन का किया निरीक्षण

 जिलों तथा बटालियनों में एसपी/कमांडेंटस् ने परेड का तथा पुलिस लाईन का निरीक्षण किया। पुलिस लाईन के निरीक्षण के दौरान पुलिस के जवानों तथा उनके परिवार के सदस्‍यों से बातचीत कर उनकी समस्‍याओं को सुना और संबंधित अधिकारियों को निराकरण के निर्देश दिए। साथ ही पुलिस लाईन के आवासों, अन्‍य भवनों तथा मैदान का निरीक्षण कर साफ-सफाई आदि की समीक्षा की। जनरल परेड और पुलिस लाईन निरीक्षण का आयोजन अब नियमित अंतराल पर निरंतर किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.