पार्षद से मारपीट करने वाले मंदिर समिति अध्यक्ष और उसके बेटे पर शासकीय कार्य में बाधा की एफआईआर!

पार्षद से मारपीट करने वाले मंदिर समिति अध्यक्ष और उसके बेटे पर शासकीय कार्य में बाधा की एफआईआर!
mp03.in संवाददाता भोपाल 
महाकाल लोक के लोकार्पण कार्यक्रम में दौरान आनंद नगर स्थित राम मंदिर परिसर में भाजपा पार्षद के साथ मारपीट करने के मामले में मंदिर समिति अध्यक्ष, उसके बेटे समेत चार लोगों के खिलाफ पुलिस ने शासकीय कार्य में बाधा व मारपीट का मामला दर्ज किया है। अब तक देखने में आया है कि पुलिस किसी शासकीय कर्मचारी अथवा अधिकारी की शिकायत पर ही शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने का केस दर्ज कराती आई है। लेकिन यह पहला मौका है, जब पुलिस को पार्षद की शिकायत पर शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने का केस दर्ज कराना पड़ा। इस मामले में पार्षद राजेश चौकसे ने तर्क दिया है कि जब लोकायुक्त पुलिस पार्षद को रिश्वत लेते हुए ट्रेक कर सकती है तो फिर उसे लोक सेवक मानकर शिकायत दर्ज की जानी चाहिए। हालांकि पुलिस  केस दर्ज करने के बाद डीपीओ से कानूनी सलाह लेगी।
एसआई संतोष रघुवंशी के मुताबिक बाल विहार आनंद नगर निवासी राजेश चौकसे पुत्र गुलाब चंद(43) वार्ड 62 से भाजपा पार्षद हैं और जोन-15 के अध्यक्ष हैं। उन्होंने शिकायती आवेदन देते हुए बताया है कि गत 11 अक्टूबर को उज्जैन में महाकाल लोक का लोकार्पण हुआ था। इस दौरान अनुविभागिय अधिकारी के परिपालन में आनंद नगर स्थित राम मंदिर में कार्यक्रम को लाइव देखने के लिए व्यवस्था की गई थी। सुबह करीब बारह बजे मंदिर समिति के अध्यक्ष रमेश यादव और उनके बेटे अभिषेक यादव उर्फ गोविंद का पार्षद राजेश चौकसे से मंदिर परिसर में अपने-अपने फ्लैक्स लगाने की बात को लेकर विवाद हुआ था। इस दौरान रमेश यादव और अभिषेक ने अपने समर्थक मंटू साहू व प्रमोद लोधी के साथ मिलकर उनके साथ गाली-गलौच की और मारपीट कर उन्हें धमकाया। इसके साथ ही कार्यक्रम में हंगामा  किया। घटना के बाद पार्षद ने लाइव कार्यक्रम के चलते केस दर्ज नहीं कराया था। घटना के नौ दिन बाद पुलिस ने आवेदन जांच के बाद चारों आरोपियों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने, मारपीट, गाली-गलौच और धमकी देने का मामला दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.