मुंबई के छात्र ने भोपाल में फांसी लगाकर आत्महत्या की

मुंबई के छात्र ने भोपाल में फांसी लगाकर आत्महत्या की

mp03.in संवाददाता भोपाल 

 कोलार इलाके में किराए के मकान में रहने वाले बीएचएमएस फस्ट ईयर के छात्र ने फांसी लगाकर हालही में आत्महत्या कर ली। पुलिस ने मकान मालिक की सूचना पर कमरे से छात्र का शव बरामद किया है। शव करीब दो दिन पुराना बताया जा रहा है। पुलिस को मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है।  इससे आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।
एएसआई प्रीतम सिंह के अनुसार वंदना नगर गेंहूखेड़ा निवासी आदर्श यादव पुत्र शिवप्रसाद(21) मूलत: ईस्ट मुंबई महाराष्ट्र का रहने वाला था। जोकि गेंहूखेड़ा स्थित एक कॉलेज में बीएचएमएस फस्ट ईयर का छात्र था। आर्दश अपने दो साथी छात्रों के साथ रहता था। रविवार को उसके दोनों दोस्त दीवाली के त्यौहार पर अपने-अपने घर चले गए थे। इस दौरान वह अकेला था। पिछले दो दिनों से वह अपने परिजनों को कॉल अटेंड नहीं कर रहा था। इस कारण मंगलवार को परिजनों ने मकान मालिक से बात कराने को कहा। जब मकान मालिक कमरे पर पहुंचा और खिड़की से अंदर झांककर देखा तो छात्र आर्दश पंखे से बंधे रास्सी के फंदे पर लटका हुआ था। घटना की सूचना मिलने के बाद पुलिस ने घटना स्थल पर पहुंच कर छात्र का शव बरामद किया। शव करीब दो दिन पुराना बताया जा रहा है। अनुमान है कि छात्र ने रविवार रात में ही फांसी लगा ली थी। पुलिस को मृतक के पास से कोई सुसाइड नोट नहीं मिला है। परिजनों व साथी छात्रों के बयान के बाद ही आत्महत्या के कारणों का खुलासा हो सकेगा। फिलहाल पुलिस ने मर्ग कायम कर पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।
सरकारी कर्मचारी ने फांसी लगाई-
बागसेवनिया पुलिस के अनुसार एएसआई भागीरथ राय ने बताया कि रामेश्वरम कॉलोनी बागमुगालिया निवासी कमलकांत द्विवेदी पुत्र सीताराम(55) विपणन संघ में कर्मचारी थे। वह पिछले दो माह से बीमारी के चलते अवकाश पर चल रहे थे। उन्हें पेट के अलावा अन्य बीमारी थी। जिसका इलाज चल रहा था। मंगलवार को उन्होंने मकान के उपरी कमरे में पंखे से रस्सी का फंदा बांधकर फांसी लगा ली। सूचना मिलने के बाद पुलिस ने शव बरामद कर लिया। पुलिस को अंदेशा है कि बीमारी से तंग आकर उन्होंने ऐसा कदम उठाया है। फिलहाल परिजनों के बयान के बाद ही कारणों का खुलासा हो सकेगा। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.