दोना पत्तल मशीन बेचने के नाम पर लाखों की धोखाधड़ी करने वाले दो जालसाज गिरफ्तार

दोना पत्तल मशीन बेचने के नाम पर लाखों की धोखाधड़ी करने वाले दो जालसाज गिरफ्तार
– क्लासिक मशीनरी मार्ट प्रायवेट लिमिटेड के नाम पर धोखाधड़ी के प्रकरण का किया खुलासा
–  मुख्य आरोपी दिल्ली एवं हावड़ा से किये गिरफ्तार ।
– फर्जी पहचान पत्र तैयार कर प्रारंभ किया था सी 21 माँल मे क्लासिक मशीनरी के नाम से खोला था आँफिस ।
– भोपाल के अलावा मंदसौर , पश्चिम बंगाल मे भी दे चुके है धोखाधड़ी के बारदात को अंजाम । 
mp03.in संवाददाता भोपाल 
राजधानी समेत मंदसौर, पश्चिम बंगाल समेत कई शहरों में दोना पत्तल की मशीन लगाने के नाम पर लाखों की ठगी कर सात महीनों से फरार दो जालसाजों को मिसरोद पुलिस ने दिल्ली और हावड़ा से गिरफ्तार लिया है। आरोपियों से पांच लाख नगदी समेत 15 लाख रूपए का माल बरामद किया गया है।
जानकार के अनुसार मिसरोद थाने में दिनाँक 22.02.22 को 38 व्यक्तियो ने अलग- अलग आवेदन इस आसय का दिया था कि क्लासिक मशीनरी मार्ट के डायरेक्टर सुनील कुमार तिवारी, ब्रांच हेड गुलशन कुमार , फायंनेस हेंड मुकेश कश्यप , कोआर्डिनेटर अजय मिश्रा व प्रमोद कुमार के द्वारा दोना पत्तल बनाने की मशीन विक्रय करने का झासा देकर अग्रिम राशि जमा करा कर लाखो रुपये की धोखाध़ड़ी करने के संबंध मे आवेदन  दिये थे जो जाँच उपरांत उक्त आरोपियो के विरुध्द धारा 420,406,34 भादवि  का कायम कर विवेचना मे लिया गया ।
 अनुसंधान-  विवेचना के बाद वरिष्ठ अधिकारियो व्दारा प्रकरण मे एसआईटी टीम गठित कर लगातार विवेचना की विवेचना के दौरान क्लासिक मशीनरी के नाम पर एक्सिस बैंक, आईसीआईसी बैंक, यूनिक बैंक सहित अन्य बैंको मे खाते खोले गए जिनके माध्यम से लोगो से धोखाधड़ी का पैसा लेते थे । आरोपियो के पहचान पत्र के संबंध मे तस्दीक करने पर ज्ञात हुआ कि क्लासिक मशीनरी के जो पदाधिकारी थे अपनी पहचान छुपाते हुए फर्जी पहचान पत्र तैयार किये थे जिनके आधार पर फर्जी  सिम,  फर्जी मोबाईल , एवं फर्जी अन्य दस्तावेज तैयार किये थे जो तकनीकि संशाधनो का प्रयोग कर सूक्ष्मता से अवलोकन पर कम्पनी का मुख्य पदाधिकारी मुकेश कश्यप पता डवास नई दिल्ली का सही नाम पता राणा प्रताप सिंह पता पटना सिटी बिहार एवं दूसरा पदाधिकारी अजय मिश्रा पता आगरा उ.प्र. का सही नाम पता  रोहित कुमार सिंह पता हावड़ा पश्चिम बंगाल को चिन्हित कर वरिष्ठ अधिकारियो के मार्गदर्शन मे तुरंत टीम रवाना किया जो मुकेश उर्फ राणा प्रताप को नई दिल्ली से एवं अजय मिश्रा उर्फ रोहित सिंह को हावड़ा पश्चिम बंगाल से गिरफ्तार कर धोखाधड़ी के करीब पाँच लाख रुपये नगदी एक सोने की चैन , तीन सोने की अंगूठी, एक स्वर्ण जड़ित रुद्राक्ष माला एवं दो दोना पत्तल बनाने की मशीन , दो लैपटाप , दो कम्प्यूटर एवं राँ मटेरियल फर्जी दस्तावेज करीबन 15 लाख रुपये का समान बरामद किया जिसके आधार पर आरोपियो के विरुध्द धारा 467,468,120 बी भादवि , म.प्र. निक्षेपको के हितो का संरक्षण अधिनियम की धारा 6 का इजाफा किया गया  एवं अन्य फरार आरोपियो की तलाश पतारसी की जा रही है ।
                      
*बरामद मशरूका का विवरण-* 
  करीब पाँच लाख रुपये नगदी, एक सोने की चैन, तीन सोने की अंगूठी, एक स्वर्ण जड़ित रुद्राक्ष माला, दो दोना पत्तल बनाने की मशीन, दो लैपटाप, दो कम्प्यूटर, राँ मटेरियल, फर्जी दस्तावेज समेत कुल कीमत करीबन 15 लाख रुपये।
 आरोपीगण-
1- राणा प्रताप सिंह पता पटना सिटी बिहार ( फर्जी नाम पता  मुकेश           कश्यप पता डवास नई दिल्ली का)।
 2. सही नाम पता रोहित कुमार सिंह पता हावड़ा पश्चिम बंगाल (फर्जी नाम पता अजय मिश्रा पता आगरा उ.प्र.)।
वारदात का तरीका –  फरियादी को क्लासिक मशीन बेचने एवं मशीन से बनाये गये दोना पत्तल को खरीदने के नाम पर धोखाधड़ी कर लेते थे पैसा ।
अनुसंधान मे महत्वपूर्ण भूमिका  -थाना प्रभारी मिसरोद उनि रास बिहारी शर्मा ,उनि लवेश कुमार, सउनि अशोक शर्मा , प्र आर दीपक मालवीय, आर. मुकेश पटेल , आर. सुभाष पटेल ,  आर. लेखराज , आर. जीतेन्द्र जाट, आर. धर्मदेव यादव, आर. चालक संदीप पंडोले, एवं सायबर सेल से आर. पुष्पेन्द्र एवं आर. आकाश का सराहनीय योगदान रहा  ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.