कोरोना से मृत युवक की आठ महीनों बाद भी नहीं हो पाई पहचान

कोरोना से मृत युवक की आठ महीनों बाद भी नहीं हो पाई पहचान

mp03.in संवाददाता भोपाल 

हमीदिया अस्पताल के कोविड सेंटर में आठ महीने पूर्व कोरोना संक्रमण से मृत युवक की अबतक पहचान नहीं हो पाई है। कोहेफिजा पुलिस ने मर्ग कायम कर मृतक की पहचान के प्रयास शुरु कर दिए हैं।
 दरअसल, सरकारी एंबुलेंस स युवक को जनवरी 2022 में  हमीदिया अस्पताल इलाज के लिए लेकर पहुंची थी, वहां कोविड टेस्ट कराया गया। कोविड टेस्ट में उसे कोरोना संक्रमण होने की पुष्टि हुई। लिहाजा उसे कोविड वार्ड में भर्ती करा दिया गया था। उसकी इलाज के दौरान कुछ दिन बाद मौत हो गई। मृतक ने अपना नाम और पता बताया था। पते पर जब पुलिस पहुंची तो पता चला कि वहां इस तरह का कोई व्यक्ति रहता ही नहीं था। लिहाजा पुलिस ने खुद की कोविड गाइड लाइन के अनुसार मृतक का दाह संस्कार कर दिया। चूंकि मर्ग डायरी मृतक के बैतूल स्थित मृतक के बताए पते अनुसार संबंधित थाने भेज दी थी। वहां उसका एड्रेस की पुष्टी नहीं हुई तब मर्ग डायरी कोहेफिजा थाना भेज दी गई। कोहेफिजा पुलिस अभी भी हुलिए के आधार पर परिजन सो संपर्क करने का प्रयास कर रही है।
एसआई बाना सिंह पवार ने बताया कि 25 जनवरी को एंबुलेंस एक युवक को गंभीर हालात में हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंची। युवक का अस्पताल में इलाज चल रहा था। करीब एक सप्ताह बाद युवक की मौत हो गई। मरने से पहले उसने अपना नाम हरीश कुमार धुर्वे पिता हुकु मचंद (32) निवासी मुलताई बताया था। मौत के बाद पुलिस ने मर्ग कायम कर मर्ग डायरी मुलताई पहुंचाई। वहां पहुंचने पर पता चला कि इस नाम का कोई भी व्यक्ति वहां नहीं रहता है। मुलताई पुलिस ने कोहेफिजा पुलिस से संपर्क  कर यह जानकारी दी और कोहेफिजा पुलिस ने हरीश का अंतिम संस्कार कर दिया। मुलताई पुलिस ने मर्ग डायरी आठ महीने बाद बुधवार को कोहेफि जा थाने पहुंचाई थी। इसके बाद कोहेफ जा पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published.