फीडर बस में ड्राइवरी और कंडक्टरी करने वाले पिता-पुत्र पर जानलेवा हमला

फीडर बस में ड्राइवरी और कंडक्टरी करने वाले पिता-पुत्र पर जानलेवा हमला

mp03.in संवाददाता भोपाल 

मुखबिरी के शक पर शुक्रवार रात चार बदमाशों ने  जवाहर चौक से मंडीदीप चलने वाली फीडर बस में बतौर चालक व परिचालक चलने वाले पिता-पुत्र को ज्योति टॉकीज चौराहे पर चलती बस में चाकूओं से गोदकर लहूलुहान कर दिया। मामले में पुलिस ने हत्या के प्रयास का प्रकरण दर्ज कर लिया है। आरोपियों की तलाश की जा रही है।
पुलिस के अनुसार बी-22 लिबर्टी कॉलोनी समर्धा मिसरोद निवासी संतोष विश्कर्मा पुत्र हरी विश्कर्मा (44)  मंडीदीप से भोपाल चलने वाली फीडर बस का चालक है। उसकी की बस में उसका 22 वर्षीय बेटा अक्षत कंडेक्टरी करता है। पिता पुत्र शुक्रवार शाम को जवाहर चौक से बस लेकर मंडीदीप पहुंचे। इसी बीच रास्तें में एक यात्री का मोबाइल चोरी चला गया। यात्री ने चार लड़कों पर संदेह जाहिर किया। उसने ड्रायवर को बताया कि बस में आरोपी उसके पास खड़े थे, इसी बीच मोबाइल चोरी गया है। हुलिये के आधार पर ड्रायवर ने संदेहियों के नाम बता दिए। इसके बाद में यात्री बस से मंडीदीप उतरने के बाद कहीं चला गया। यात्री ने बस भोपाल आने से पूर्व ही किसी तरह से आरोपियों से संपर्क कर लिया। हालांकि उनके पास में मोबाइल नहीं मिला। इसी बीच बस में पिता पुत्र अन्य यात्रियों को लेकर मंडीदीप से भोपाल लौटे। जोकि आईएसबीटी पर कुछ पैसेंजरों को उतारकर ज्योति टॉकीज की तरफ जा रहे थे। रास्ते में आरोपी रेहान,सरफराज,डिनेश और रेहान बस में चढ़ गए। आरोपियों ने चालक से मुखबिरी का आरोप लगाते हुए विवाद किया। चालक ने विरोध किया और ज्याति टॉकीज के पास बस रोककर आरोपियों को उतरने के लिए कह दिया। तब बदमाश रेहान और सरफराज ने चालक को चाकू मार घायल कर दिया। उसके सीने में भी चाकू घोंप दिया। पिता को पीटता देख बेटा अक्षत बचाव करने आया तब दानिश और दूसरे रेहान ने उसको पीटने के बाद में चाकू मारकर घायल कर दिया। इसके बाद में आरोपी चान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए। घटना के बाद में बस में सवार यात्रियों के बीच अफरा-तफरी मच गई।
– एक कहानी यह भी
बताया जा रहा है कि आरोपी पक्ष भी ड्रायवरी और कंडक्टरी करता है। वह बस में सवार होने के बाद में स्टॉफ का होने का हवाला देकर वह बैठने के लिए जगह मांग रहे थे। फरियादी चालक के पास वाली सीट पर महिलाएं बैठी थीं। उसने जगह न होने की बात कही तो आरोपी भड़क गए। बौठने को जगाह दिलाने की बात पर शुरु हुए विवाद के बाद चाकूबाजी हो गई।

Leave a Reply

Your email address will not be published.