मतदान के पूर्व पुलिस अलर्ट, शहर में साढे़ 4 हजार जवानों की तैनाती

मतदान के पूर्व पुलिस अलर्ट, शहर में साढे़ 4 हजार जवानों की तैनाती
mp03.in संवाददाता भोपाल 
राजधानी में नगरीय निकाय चुनाव को शांतीपूर्ण संपन्न कराने को लेकर राजधानी पुलिस हाई अलर्ट पर है। मतदान की सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर करीब 4500 पुलिस जवानों को शहर के चप्पे-चप्पे पर तैनात किया गया है। जिले में करीब 2170 मतदान केंद्र बनाए हैं, जिसमें से करीब 586 मतदान केंद्रों को संवेदनशील केंद्रों की श्रेणी में रखा गया है। क्योंकि पूर्व में हुए चुनाव के दौरान जहां विवाद हुए थे, वह संवेदनशील की श्रेणी में लाए गए थे। थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया है कि वह हर मतदान केंद्र पर अपनी नजर बनाए रखें और किसी भी तरह के विवाद होने की स्थिति में तुरंत मौके पर पहुंच सकें। इसके अलावा पुलिस के आला अफसर भी लगातार निगरानी करते रहेेंगे। जब तक मत पेटियां जमा ना हो जाएं कोई भी थाना प्रभारी अपने ड्यूटी से वापस नहीं जा सकेगा।
डीसीपी बने जोन के प्रभारी
जोन में डीसीपी को प्रभारी बनाया है। जोकि अपने-अपने जोन की सुरक्षा व्यवस्था को जायजा लेते हुए पुलिस के आला अफसरों को पल-पल की जानकारी उपलब्ध कराएंगे। इसके अलावा विशेष बल भी बनाया गया है। जिसके तहत किसी भी तरह के विवाद होने की स्थिति में टीम को तुरंत मौके पर पहुंचाया जा सके। हालांकि कमिश्नर, एडीसीपी प्रशासन के अफसरों के साथ पूरे शहर का जायजा लेते रहेंगे।
100 मीटर के दायरे में कोई नहीं आएगा
पुलिस प्रशासन ने 100 मीटर के दायरे में किसी भी पार्टी के बूथ को लगाने की परमिशन नहीं दी है। जिससे मतदान करने आने वाले मतदाताओं को किसी भी तरह की दिक्कत का सामना ना करना पड़े। अगर कोई संदिग्ध व्यक्ति इस दायरे में आने की कोशिश करता है, तो पुलिस उसे तुरंत गिरफ्तार कर केस भी दर्ज कर लेगी।
उपद्रवियों पर हुई बॉडओवर की कार्रवाई
चुनाव के दौरान उत्पात मचाने वाले उपद्रवियों के खिलाफ भोपाल पुलिस करीब एक महीने से बॉड ओवर की कार्रवाई कर रही थी। इसके अलावा कुछ बदमाशों को जिला बदर भी किया गया है। क्योंकि पुलिस चुनाव को शांतीपूर्ण तरीके से कराना चाहती है।
कोट्स
मतदान के दौरान सुरक्षा व्यवस्था में करीब 4500 पुलिसकर्मियों को तैनात किया गया है। सभी जोन के डीसीपी सुरक्षा व्यवस्था की जिम्मेदारी संभालेंगे। विवाद करने वाले व्यक्ति को तुरंत गिरफ्तार करने के आदेश दिए गए हैं।
मकरंद देउस्कर, पुलिस कमिश्नर

Leave a Reply

Your email address will not be published.