गैंगवार में घायल राजधानी के कुख्यात बदमाश मुख्तार मलिक की राजस्थान में मौत! 

गैंगवार में घायल राजधानी के कुख्यात बदमाश मुख्तार मलिक की राजस्थान में मौत! 
mp03.in  संवाददाता भोपाल                   
गैंगवार (gangwar)में घायल राजधानी के कुख्यात बदमाश मुख्तार मलिक(mukhtar maliq) की राजस्थान (rajsthan)के एक अस्पताल में इलाज के दौरान शुक्रवार को  मौत हो गई। झालावाड़ (jhalawad)पुलिस ने  मुख्तार की मौत की पुष्टि की है।
 बताया कि दोनों गैंग के बीच भीमसागर बांध के कैचमेंट एरिया में मछलियां पकड़ने को लेकर विवाद हो गया। इसके बाद दोनों गैंग के बीच फायरिंग भी हुई। गैंगवार के समय जिस नाव में मुख्तार गैंग सवार थी, वह डूब गई। बताया जाता है कि गैंगवार में मुख्तार गैंग के एक गुर्गे की मौत भी हो गई। वहीं, मुख्तार समेत उसके राइट हैंड विक्की वाहिद को भी गोली लगी है। तभी से दोनों लापता थे।
राजस्थान में असनावर थाना प्रभारी हरवंत सिंह ने बताया कि भीमसागर बांध के नदी क्षेत्र में मछलियां पकड़ने का ठेका भोपाल निवासी मुख्तार मलिक ने ले रखा है। मंगलवार देर रात मुख्तार मलिक 11 मजदूरों के साथ कांस खेड़ली के पास कम गहरे पानी में नाव से पेट्रोलिंग कर रहा था। इसी दौरान गांव के रहने वाले मछुआरों से कहासुनी हो गई। विवाद इतना बढ़ा कि फायरिंग होने लगी। फायरिंग होते ही नदी के अंदर नाव पलट गई। बुधवार सुबह नदी के अंदर घटनास्थल के पास से शव पानी में उतराता मिला। शव को अस्पताल भिजवाया। मुख्तार मलिक के साथ रात को गश्त कर रहे दो मजदूरों को तलाश किया जा रहा है।मुख्तार मलिक के खिलाफ भोपाल के कोहेफिजा थाने में हत्या की कोशिश का मामला दर्ज किया गया है। इस मामले में वह फरार है। पुलिस के अनुसार कोहेफिजा में हत्या के प्रयास के मामले में फरार  कि मुख्तार मलिक और उसके साथियों को पकड़ने के लिए पुलिस राजस्थान जाने वाली थी, लेकिन अब मुख्तार की मौत हो गई।  ऐसे में राजस्थान पुलिस ही पोस्टमार्टम करवाएगी और संभवत: हीं अंतिम संस्कार भी किया जाएगाl
*58 से ज्यादा अपराध दर्ज हैं मुख्तार पर*
बता दें कि कुख्यात बदमाश मुख्तार मलिक पर 55 से ज्यादा आपराधिक मामले दर्ज है! भोपाल की पुरानी अदालत में बदमाश मुन्ने पेंटर के साथ हुई गैंगवार का मुख्य आरोपी था l इस गैंगवार में दोनों पक्षों से करीब 4 लोगों की हत्या हुई थीl इस मामले में मुख्तार और मुन्ने पेंटर को  को फांसी की सजा दी गई थी l सजा मिलने से पहले ही दोनों अदालत से फरार हो गए थे l बाद में उच्च न्यायालय द्वारा फांसी की सजा को आजीवन कारावास में तब्दील कर दिया गया थाl करीब 15:00 20 दिन पहले राजधानी भोपाल के अमदाबाद पैलेस में हुई गोलीबारी में भी बदमाश मुख्तार शामिल थाl कोहेफिजा पुलिस ने मुख्तार के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया था जिसमें उसकी तलाश की जा रही थीl
राजस्थान में हुई थीं गैंगवाॅर 
पुलिस के मुताबिक भोपाल से आए ठेकेदार मुख्तार मालिक, उसके साथी विक्की उर्फ वाहिद समेत नाव में करीब 11 लोग नाव में सवार थे। दूसरे पक्ष बंटी गुर्जर और उसके साथियों ने मुख्तार गु्रप पर फायरिंग कर दी थी। हमले में कमल किशोर की मौत हो गई थी। सूत्रों की माने तो पुलिस आज सुबह ग्राम कासलाखेड़ी, पाटन में मुख्तार ग्रामीणों को घायल अवस्था में मिला था। ग्रामीणों ने उसकी खबर पुलिस को दी और वह मौके पर पहुंच गई। जहां पुलिस ने मुख्तार को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया है। जहां पर उसकी मौत हो गई। घटना के बाद से मुख्तार के परिजन झालावाड़ में पहुंच गए थे, और उसकी तलाश कर रहे थे। उसके शव को पीएम के लिए भेज दिया है, और रिपोर्ट आने के बाद पता चल सकेगा कि उसकी मौत कैसे हुई है।
इनका कहना है
मुख्तार वह ग्रामीणों को घायल अवस्था में मिला था, और अस्तपाल में उसकी मौत हो गई है। उसे गाेली लगी थी या नहीं, इसका खुलासा पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही हो सकेगा।
मोनिका सेन, एसीपी झालावाड़

Leave a Reply

Your email address will not be published.